पड़ोसियों में दिन में हुई मामूली बहस, रात को किया हमला; डेढ़ घंटे दहशत में रहा परिवार

पथराव में घायल फिरोज और इमरान
डेढ़ घंटे देरी से पहुंची पुलिस, खजांची बाबा की दरगाह के पास की घटना

कंपू थाना क्षेत्र में खजांची बाबा की दरगाह के पास रविवार रात 9 बजे कुछ लोगों ने पड़ोसी परिवार पर रात में हमला कर दिया। दोनों परिवारों के बीच किसी बात को लेकर मामूली विवाद हुआ था। डेढ़ घंटे तक परिवार के 9 सदस्य घर में बंधक बने रहे। हमलावर पथराव करते रहे। कंपू पुलिस को सूचना दी गई, लेकिन पुलिस को स्पॉट पर पहुंचने में डेढ़ घंटा लग गया।

घटना में एक ही परिवार के 7 सदस्य घायल हो गए।घायलों में 2 साल की मासूम भी शामिल है। जब पीड़ित परिवार थाना पहुंचा, तो घंटों सुनवाई नहीं हुई। रात को दूसरा पक्ष भी मारपीट का आरोप लगाकर थाने पहुंच गया। पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

छत पर पड़े पत्थर गवाही दे रहे हैं कि रविवार रात परिवार का सामना किस दहशत से हुआ था।

खजांची बाबा की दरगाह के पास रहने वाले फिरोज उद्दीन (30) ने बताया कि रविवार दोपहर उनका भाई इमरान कोरोना कर्फ्यू में पास ही अशोक खान की दुकान पर सामान लेने गया था। वह जल्दबाजी में पैसे देना भूल गया। इस पर अशोक व परिजन उससे बहस करने लगे। हालांकि इमरान ने गलती मान ली।

उस समय मामला शांत हो गया। रात को जब इमरान बाहर से घर आ रहा था, तभी अशोक खान, अयूब खान व उसके लड़के छोटू, नदीम व अन्य 10 से 15 लोगों ने उसे घेरकर हमला कर दिया। वह दौड़ते हुए घर की तरफ आया। उसे बचाने अन्य परिजन बाहर निकले, तो हमलावरों ने मारपीट कर दी। हमलावरों ने घर की महिलाओं, लड़कियों और बच्चों तक को नहीं छोड़ा। जब परिवार के सदस्यों ने खुद को बचाने घर में बंद कर लिया, तो हमलावरों ने पथराव शुरू कर दिया।

डेढ़ घंटे दहशत मे रहा परिवार

घर के अंदर परिवार बंद था। बाहर से हमलावर ईंट, पत्थर बरसा रहे थे। परिवार के सदस्य घर के अंदर और छत पर छिपे थे। किसी तरह कंपू थाना पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने स्पॉट पर पहुंचने में डेढ़ घंटा लगा दिया। तब तक फिरोज के परिवार के 9 सदस्य दहशत में रहे। कंपू थाना पुलिस का कहना है, दो पक्षाें में झगड़ा हुआ था। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची थी। दोनों पक्षों पर मामला दर्ज है।

थाने में भी नहीं सुनी

आरोप है कि जब फरियादी थाने पहुंचे, तो पुलिस ने उनकी नहीं सुनी, उल्टा उन्हीं को मामला दर्ज करने की धमकी देकर डराते रहे। इसी बीच, दूसरा पक्ष भी पहुंच गया। उसने भी पथराव व मारपीट का आरोप लगाया है। पुलिस ने दोनों पक्षों पर क्रॉस FIR दर्ज कर ली है।

ये हुए घायल

हमले में फिरोज उद्दीन, फिरोज का बड़ा भाई निजामुद्दीन (34), इमरान (28), कमरूद्दीन अहमद (57), सहनाज बानो (49), हुसनारा (20) व दो साल की मासूम सार्थ घायल हुए हैं।