नई दिल्ली  । भारतीय जीवन बीमा निगम में नए नियम के आने के बाद अब शनिवार के दिन एलआईसी का कोई भी काम नहीं होगा। इस दिन एलआईसी भी एलआईसी की कोई पॉलिसी है और आपको कोई भी काम कराना है तो सोमवार से शुक्रवार के बीच ही किसी दिन में करना होगा। इस बदलाव से एलआईसी के लगभग एक लाख से ज्यादा कर्मचारियो को फायदा मिलेगा। इन कर्मचारियों का 1 अगस्त, 2017 से वेज रिविजन बकाया है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच मिली हफ्ते में दो दिन की छुट्टी एलआईसी कर्मचारियों के लिए किसी खुशखबरी से कम नहीं है। यूनियन के नेताओं के साथ मीटिंग के बाद मैनेजमेंट इन बदलावों का फाइनल प्रपोजल सरकार के पास भेजेगा। वित्त मंत्रालय नोटिफिकेशन जारी करने से पहले इसमें बदलाव कर सकता है। केंद्र सरकार ने ये बदलाव नेगोशिएबल इंस्ट्रुमेंट्स एक्ट 1881 के सेक्शन 25 के तहत किया है। एलआईसी ने फेक कॉल को लेकर अपने ग्राहकों को आगाह किया है। कंपनी ने बताया है कि कुछ जालसाज एलआईसी अधिकारी, एजेंट या आईआरडीए के अधिकारी बनकर ग्राहकों को फोन करते हैं और उनकी गोपनीय जानकारियां लेकर लूट करते हैं। ये लुटेरे बेहतर रिटर्न दिलाने के नाम पर पॉलिसी सरेंडर कराकर ग्राहकों से मोटी रकम वसूलते हैं। ग्राहक जो राशि सरेंडर करते हैं उसे दूसरी जगहों पर इन्वेस्ट कर दिया जाता है। इस तरह के लोगों से एलआईसी ने अपने ग्राहकों को सचेत कराया है।