नई दिल्ली । विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने अप्रैल में अब तक भारतीय बाजारों से 4,615 करोड़ रुपए निकाले हैं। कोराना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच विभिन्न राज्यों में सर्वजनिक प्रतिबंधों की घोषणा बाद विदेशी निवेशक में बेचैनी है और वे भारतीय बाजार से निकासी कर रह हैं। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार विदेशी निवेशकों ने एक से 16 अप्रैल के बीच शेयरों से 4,643 करोड़ रुपए निकाले और ऋण-पत्र या बांड बाजार में 28 करोड़ रुपए डाले। इस तरह भारतीय पूंजी बाजार से उनकी निकासी 4,615 करोड़ रुपए रही। एफपीआई ने मार्च में बाजारों में 17,304 करोड़ रुपए फरवरी में 23,663 करोड़ रुपए और जनवरी में 14,649 करोड़ रुपए का निवेश किया था। ‎विशेषज्ञों ने कहा ‎कि कई राज्यों ने कोविड-19 पर अंकुश के लिए प्रतिबंधात्मक कदम उठाए हैं। संक्रमण के बढ़ते मामलों तथा भारतीय मुद्रा की विनिमय दर में गिरावट से आशंकित विदेशी निवेशक धन ‎निकाल रहे हैं। कोरोना वायरस के प्रसार की वजह से कुल धारणा प्रभावित हुई है। कई राज्यों ने महामारी का प्रसार रोकने के लिए कदम उठाए हैं। पिछले सप्ताह फार्मा को छोड़कर अन्य सभी सूचकांक नुकसान में रहे।