मुंबई। साइबर ठगी के मामले दिनों-दिन बढ़ते जा रहे हैं. पुलिस तथा  सामाजिक संस्थाओं द्वारा लगातार जागरूकता अभियान चलाने के बाद भी कई  लोग आसानी से साइबर ठगों के झांसे में आ जाते हैं। मुंबई पुलिस की वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक वर्ष २०२१ के जनवरी महीने से लेकर ३१ मार्च तक साइबर ठगी के ६३९ मामले दर्ज किए गए हैं। इसमें से सबसे अधिक मामले क्रेडिट और डेबिट कार्ड धोखाधड़ी के दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा अश्लील ई-मेल या एमएमएस भेजने के ६७ मामले दर्ज किए गए, जिसमें से २५ मामलों को सुलझा लिया गया है। फर्जी सोशल मीडिया प्रोफाइल और मॉर्फिंग के ९ मामले दर्ज किए गए, जिसमें से ३ को सुलझा लिया गया है। वहीं पुलिस साइबर ठगी के ६३९ मामले में से सिर्फ ५८ मामलों को ही सुलझा पाई है। मुंबई पुलिस साइबर ठगी पर लगाम लगाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है। पुलिस ने हाल ही में ५ नए साइबर पुलिस स्टेशन बनाए हैं। समता नगर, वर्ली, डीबी मार्ग, बांद्रा और शिवाजी नगर में साइबर पुलिस स्टेशन बनाए गए हैं। इन पुलिस स्टेशनों में २ लाख से ५० लाख रुपए के मामले की जांच की जाएगी।