भिवानी । भिवानी जिले के रोहणात में एक युवक ने अपनी पत्नी व ससुराल पक्ष के लोगों के डर के मारे फांसी लगाकर जान दे दी। युवक की मौत के बाद पु‎लिस मौके पर पहुंची और उसकी पत्नी, सास, ससुर व दो सालों के ख़िलाफ़ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मृतक के पांच बेटे भी हैं। यह मामला भिवानी के बवानीखेड़ा क्षेत्र के गांव रोहनात का है। जानकारी के मुता‎बिक, मृतक युवक और उसकी पत्नी के बीच आपसी मनमुटाव चल रहा था। इससे परेशान होकर युवक ने फांसी का फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक के परिजनों ने मृतक की पत्नी सहित ससुरालजनों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाते हुए बवानी खेड़ा पुलिस को शिकायत की है। मृतक के पिता के बयान पर पुलिस ने मृतक की पत्नी सहित सास, ससुर व दो सालों पर आईपीसी की धारा 306,34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। ‎फिलहाल पु‎लिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया गया है। पुलिस घटना की जांच में जुटी है।
मृतक की मां ने बताया कि वो सुरेन्द्र को बहुत समझाते थे लेकिन उसके मन से पत्नी द्वारा ससुराल वालों से जान से मरवाने का डर निकल ही नहीं पा रहा था। सुरेन्द्र की शादी गांव बास निवासी मीनाक्षी के साथ करीब 12 साल पहले हुई थी। उन्होंने बताया ‎कि सुरेन्द्र के चार लड़कियां व एक लड़का है। उसके लडके सुरेन्द्र को उसकी पत्नी और उसके दो साले मन्दीप व सन्दीप व ससुर बारु व सास परेशान रखते थे। मृतक की मां ने बताया कि 20 दिन पहले उसकी पुत्रवधु मीनाक्षी उसके लड़के से लडाई झगड़ा करके अपने घर चली गई थी औऱ बार-बार पंचायत करने पर अब 9 दिन पहले ही वापस आई थी औऱ आने के बाद रोज उसके लडके के साथ झगड़ा करती थी तथा सुरेन्द्र को अपने भाईयों से जान से मरवाने की धमकी दिलवाती थी। इससे परेशान होकर उसके लडके सुरेन्द्र ने अपनी पत्नी व सुसराल वाले के दबाव मे आकर आत्महत्या कर ली।
 इस बारे में में बवानी खेड़ा पुलिस थाना प्रभारी एसआई रविंद्र कुमार का कहना है ‎कि गांव रोहनात में एक सुरेंद्र नामक युवक के फांसी लगाकर आत्महत्या की सूचना मिली थी। इसके बाद पु‎लिस ने मौके पर पहुंचकर मृतक के पिता ने मृतक की पत्नी, सास, ससुर व दो सालों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को शिकायत दी थी। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर मृतक की पत्नी सहित पांच ससुरालजनों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने की धारा 306 व 34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।