महिला दिवस पर मुख्यमंत्री शिवराज की सुरक्षा का जिम्मा संभालेंगी महिलाएं, गाड़ी भी महिला ही चलाएगी

महिला दिवस पर भोपाल में सरकार बड़ा आयोजन करने जा रही है। इस दिन मुख्यमंत्री की गाड़ी महिला ड्राइवर ही चलाएगी।
भोपाल के मोतीलाल स्टेडियम में बड़े कार्यक्रम की तैयारी, यहां भी महिला सुरक्षा कर्मी ही तैनात होंगी
अपराजिता अभियान - 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग दी जाएगी

अपनी अलग-अलग तरह की योजनाओं के चलते चर्चाओं में रहने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर सुर्खियों में आने वाले हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर 8 मार्च को मुख्यमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा महिलाओं पर रहेगा। यही नहीं, उनकी गाड़ी भी महिला ड्राइवर ही चलाएगी, जो उन्हें सीएम हाउस से लेकर मोतीलाल नेहरू स्टेडियम तक लेकर जाएगी। यहां महिला दिवस पर सरकार बड़ा कार्यक्रम आयोजित कर रही है।

मंत्रालय सूत्रों ने बताया, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यह संदेश देना चाहते हैं कि महिलाएं किसी भी विधा में पुरुषों से पीछे नहीं हैं। यही वजह है कि महिला दिवस पर मुख्यमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी महिला पुलिसकर्मियों के हाथों में रहेगी। मोतीलाल नेहरू स्टेडिम में कार्यक्रम के दौरान भी महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती रहेगी। यहां मुख्यमंत्री महिलाओं के लिए बड़ी घोषणा कर सकते हैं।

इससे पहले, 15 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि मध्यप्रदेश में सभी शासकीय कार्यक्रम बेटियों की पूजा से शुरू किए जाएंगे, जिससे बेटियों और महिलाओं का सम्मान का भाव सबके मन में जागे। अगले दिन ही शासन ने आदेश भी जारी कर दिया था।

8 मार्च से अपराजिता अभियान

8 मार्च को महिला बाल विकास विभाग ने महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए सरकारी और उत्कृष्ट स्कूलों की कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मार्शल आर्ट्स की ट्रेिनंग दी जाएगी। इसका नाम अपराजिता रखा गया है। इस दाैरान प्रदेश के 311 विकासखंडों में 15 से 20 दिन यह ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें सेल्फ डिफेंस वाले खेल जूडो, कराटे और ताइक्वांडो की विशेष रूप से ट्रेनिंग दी जाएगी।

कमलनाथ सरकार ने शुरू की थी भोपाल में ‘पिंक पार्किंग’

इससे पहले तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने 8 मार्च 2019 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल में महिलाओं के लिए अलग से पार्किंग की शुरुआत की थी। शहर में तीन जगहों पर शुरू हुई इन पार्किंग्स को पिंक पार्किंग का नाम दिया गया था। भोपाल में 10 नंबर, एमपी नगर और न्यू मार्केट में इस सुविधा का शुभारंभ किया गया था।