पणजी । भारत के स्टार पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने कहा है कि रुस के विरोधी मुक्केबाज अर्तयश लोपसन से होने वाले मुकाबले में अपनी जीत का सिलसिला बरकरार रखेंगे। विजेंदर ने अभी तक पेशेवर मुक्केबाजी में अपने सभी मुकाबले जीते हैं। कोरोना महामारी के कारण वह एक साल बाद किसी पेशेवर मुकाबले में उतर रहे हैं जिसके लिए उनकी ओर से पूरी तैयारियां हैं। विजेंदर ने कहा कि विरोध मुक्केबाज कद में जरुर ऊंचा है पर वह अनुभव के लिहाज से उनके सामने कहीं नहीं टिकता। विजेंदर और लोपसन के बीच सुपर मिडिलवेट (76 किग्रा भारवर्ग) मुकाबला गोवा के पणजी में ‘मैजेस्टिक प्राइड’ कसिनो जहाज की छत (रूफटॉप डेक) पर खेला जाएगा जिसे ‘बैटल ऑन शिप’ का नाम दिया गया है।  विजेंदर ने पेशेवर करियर में 12 मुकाबले खेले हैं और सभी में जीत दर्ज की है। वहीं लोपसन ने इससे पहले छह पेशेवर मुकाबलों में भाग लिया है जिसमें दो नॉकआउट सहित चार जीत शामिल है।
पेशेवर करियर में विजेंदर अब तक अजेय रहे हैं पर उन्हें इस प्रारूप में 13वीं जीत दर्ज करने के लिए छह फुट चार इंच लंबे इस विरोध मुक्केबाज का मुकाबला करना है। विजेंदर ने कहा, ‘‘ वह लंबा है और मैं शुरूआत में थोड़ा धीमा खेलूंगा लेकिन मुझे भरोसा है कि उसे हरा दूंगा। मुक्केबाजी में कद सब कुछ नहीं होता है, आपको ताकत और रणनीति की जरूरत होती है। मुझे इसका अनुभव है और लोपसन अभी मेरे सामने कहीं नहीं है।’’
ओलंपिक कांस्य पदक विजेता इस मुक्केबाज ने कहा, ‘‘ मेरा अजेय क्रम 19 मार्च के बाद भी जारी रहेगा और मुझे भरोसा है कि हर कोई मुक्केबाजी के इस रोमांचक दिन को देखेगा। प्रतिद्वंद्वी जितना मुश्किल होगा, उसे हराने में उतना ही मजा आएगा।’’वहीं विरोधी लोपसन ने कहा कि वह विजेंदर का जवाब रिंग में देना चाहेगा। इस मुक्केबाज ने कहा, ‘‘ विजेंदर एक अच्छे मुक्केबाज हैं लेकिन मैं यहां उनके अजेय क्रम को खत्म करने आया हूं। मैं उसे शुरुआती दौर में नॉकआउट करने के लिए तैयार हूं। उसके अपने (घरेलू) दर्शकों के सामने उस पर मुक्के बरसाना बहुत अच्छा होगा। मुझे यकीन है कि रिंग में विजेंदर को काफी मुश्किल स्थिति का सामना करना पड़ेगा।