अंबरनाथ। मुंबई से सटे अंबरनाथ नगर परिषद द्वारा नागरिकों से बार-बार सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने की अपील के बावजूद, कई लोग सड़कों पर और सार्वजनिक स्थानों पर थूकते पाए जाते हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए अब नपा प्रशासन ने ऐसे बेपरवाह नागरिकों से एक हजार रुपये का दंड राशि वसूलने का निर्णय लिया है. दरअसल कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए राज्य सरकार के दिशा निर्देशानुसार अंबरनाथ नगर परिषद ने अब इस नए नियमों की घोषणा की है। नगर परिषद के मुख्याधिकारी डॉ. प्रशांत रसाल ने संबंधित अधिकारियों को इस नियम को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए हैं। यानि अब सार्वजानिक स्थानों पर मास्क का उपयोग न करने पर 500 रुपये और सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा, सार्वजनिक स्थानों पर सामाजिक दूरी का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों, दुकानदारों को भी जुर्माना भरना होगा। वहीं शादी-विवाह समारोह में केवल 50 लोगों को ही मौजूद रहने की अनुमति है। यहां भी कोरोना नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा और 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। ज्ञात हो कि पिछले एक महीने से अंबरनाथ शहर में कोरोना के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। इस वृद्धि पर अंकुश लगाने के लिए नगर परिषद प्रशासन ने ऐसे कुछ कठोर कदम उठाए हैं। अंबरनाथ में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सांसद डॉ.श्रीकांत शिंदे ने अंबरनाथ में एक समीक्षा बैठक की थी। बैठक में, उन्होंने नपा प्रशासन को निर्देश दिया था कि कोरोना को रोकने के लिए कड़े कदमों को लागू किया जाए। तदनुसार, मुख्य अधिकारी डॉ. डॉ. प्रशांत रसाल ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए छह नोडल अधिकारी और 32 कर्मचारी नियुक्त किए हैं।