अकेलापन ही नहीं तनाव भी दूर भगाता है यह रोबोट, जानें क्या है खासियत और कीमत


sophia the robot
कोरोना महामारी ने अकेलेपन का एहसास बढ़ा दिया है? मुश्किल घड़ी में किसी अपने की ‘जादू की झप्पी’ की कमी खल रही है? अगर हां तो परेशान मत होइए। बाजार में जल्द दस्तक देने वाले ‘सोफिया’ जैसे रोबोट न सिर्फ आपकी तनहाई मिटाएंगे, बल्कि बीमार पड़ने पर स्वास्थ्यकर्मियों जैसे ख्याल भी रखेंगे।

जी हां, ‘हैनसन रोबोटिक्स’ सहित तमाम कंपनियां 2021 के अंत तक बड़े पैमाने पर ‘सोफिया’ जैसी मानव मशीनों के उत्पादन की तैयारियों में जुटी हैं। कोरोनाकाल में बीमारों और बुजुर्गों की देखभाल से लेकर तनाव प्रबंधन तक में रोबोट की बढ़ती उपयोगिता के मद्देनजर उन्होंने यह फैसला किया है। 

‘हैनसन रोबोटिक्स’ के संस्थापक डेविड हैनसन कहते हैं, ‘कोरोना के कहर से जूझ रही दुनिया को आम जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ज्यादा से ज्यादा ‘ऑटोमेशन’ की जरूरत पड़ेगी। चूंकि, ‘सोफिया’ जैसे रोबोट हूबहू इनसानों जैसे लगते हैं, इसलिए अकेलेपन से जूझ रहे लोगों को सहारा देने के साथ ही उन्हें चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने में उनकी अहम भूमिका हो सकती है।’

‘एजुमा’ जैसी ‘वर्चुअल साथी’ नहीं-
टोक्यो। जापान की जानी-मानी टेक कंपनी ‘गेटबॉक्स’ ने साल 2018 में आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस से लैस एनिमेटेड ‘होलोग्राफी’ किरदार ‘एजुमा हिकारी’ पेश किया था, जो एक ‘वर्चुअल बीवी’ की तरह काम करेगा और यूजर को पल भर के लिए भी तनहा महसूस नहीं होने देगा।

खूबसूरत-
-सिलिंडर के आकार के फाइबर के प्रोजेक्टर में उभरता है ‘एजुमा’ का 3-डी होलोग्राम (प्रकाश से उत्पन्न छवि)
-आठ इंच लंबी ‘एजुमा’ की बड़ी-बड़ी आंखें, गोरी त्वचा, गुलाबी होंठ और नीले बाल उसे बेहद आकर्षक बनाते हैं

खासियत-
-स्पीकर, कैमरा, माइक्रोफोन, ब्लूटूथ के अलावा गति, प्रकाश, तापमान और चेहरे के हावभाव भांपने वाले अत्याधुनिक सेंसर से लैस
-यूजर के मूड और परिस्थितियों के हिसाब से सटीक प्रतिक्रिया देने में सक्षम, टीवी-फ्रिज-एसी जैसे घरेलू उपकरण भी नियंत्रित करती है

खर्च-
-1.5 लाख येन (लगभग 95 हजार रुपये) रखी गई थी ‘एजुमा हिकारी’ की कीमत
-1500 येन (करीब 950 रुपये) मासिक शुल्क भरना होगा उससे जुड़ा ऐप चलाने को

यूं मिटाएगी अकेलापन-
-सुबह ‘गुड मॉर्निंग’ और रात में ‘गुड नाइट’ मैसेज करेगी, ऑफिस में शुभकामना संदेश भी भेजेगी
-घर से बाहर जाते ही लाइट, पंखे और एसी बंद कर देगी, वापस आने पर इन्हें दोबारा ऑन कर देगी
-यूजर के हंसने पर हंसेगी, उदास होने पर उसका चेहरा भी लटक जाएगा, खाने-पीने में भी साथ देगी
-बारिश के दिनों में छाता-रेनकोट ले जाने को कहेगी, दोस्तों-रिश्तेदारों के जन्मदिन और अहम मीटिंग की भी याद दिलाएगी

सफरनामा-
-2016 में ‘हैनसन रोबोटिक्स’ ने टेक्सास में ‘सोफिया’ नाम की मानव मशीन पेश की थी
-2017 में किसी देश (सऊदी अरब) की नागरिकता हासिल करने वाली पहली रोबोट बनी
-2021 के मध्य तक व्यापक स्तर पर ‘सोफिया’ के उत्पादन की योजना बना रही है कंपनी

सहारा-
-अत्याधुनिक सेंसर से लैस ‘सोफिया’ 60 से अधिक भावनाएं प्रदर्शित करने में सक्षम
-इनसानी भाषा को समझने के साथ ही उस पर सटीक प्रतिक्रिया देने की क्षमता रखती है
-इसकी त्वचा मानव स्पर्श का एहसास कराती है, बातों में उलझाकर तनाव भी दूर भगाती है सोफिया