मुंबई। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कल ‘सेक्स टूरिज्म’ का पर्दाफाश किया है. इस मामले में दो महिला दलालों को गिरफ्तार किया गया है और दो महिलाओं को सेक्स रैकेट से मुक्त करवाया गया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस को खुफिया जानकारी मिली थी कि एक महिला अपने सहयोगियों की मदद से ‘सेक्स टूरिज्म’ करवा रही है. जानकारी मिलने के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने जाल बिछाया और इस महिला को ट्रैप में फंसा कर एक सहयोगी के साथ पकड़ लिया. संबंधित महिला इससे पहले भी 2002 में एक अन्य मामले में पुलिस की गिरफ्त में आ चुकी है. बताया गया है कि पुलिस ने नकली ग्राहक बन कर सेक्स रैकेट से जुड़ी महिला से संपर्क किया. महिला ने गोवा की ट्रिप आयोजित कर साथ में दो लड़कियों को भेजने की बात कही. यानि कस्टमर को लड़कियों के साथ गोवा ट्रिप पर भेजा जाता था. महिला दलाल इस पूरे ट्रिप को ऑर्गनाइज करवाती थी. पुलिस के अनुसार यह रैकेट लड़की से लेकर होटल तक सारा प्रबंध करके ग्राहकों से पैसे वसूलने का काम कर रहा था. पुलिस टीम एयरपोर्ट पहुंच कर गिरफ्तारी की तैयारी में लग गई. वहां इस रैकेट से संबंधित तीन लड़कियां लेडी ऑफिसर्स के रूप में एक कस्टमर के रूप में मौजूद व्यक्ति से डीलिंग में लगी हुई थीं. इस बीच पैसों और टिकटों का लेन-देन शुरू था. सिग्नल मिलते ही तीनों लड़कियों को कब्जे में ले लिया गया. इन लड़कियों से पूछताछ और जांच में मुख्य आरोपी के बारे में जानकारी मिली. मुख्य आरोपी महिला डिपार्चर गेट से एंट्री लेती हुई नजर आई. वह हाथ में बोर्डिंग पास रखी हुई थी. जिस वक्त वह एंट्री ले रही थी, उसी वक्त मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे धर दबोचा. फिलहाल इस रैकेट से दो लड़कियों को मुक्त करवा लिया गया है. मुख्य आरोपी को उसकी एक सहयोगी के साथ गिरफ्तार किया गया है. फ़िलहाल पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. पूछताछ में यह पता चलेगा कि सेक्स टूरिज्म का यह जाल मुंबई से गोवा तक ही शुरू था या दिल्ली, बंगलुरू और हैदराबाद जैसे बड़े शहरों तक भी फैला हुआ है.