मुंबई। मुंबई समेत महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से राज्य सरकार भी चिंतित नजर आ रही है. खबर है कि महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार मुंबई में लॉकडाउन लगाने पर विचार कर रही है, लेकिन ये लॉकडाउन पिछले साल के लॉकडाउन की तरह नहीं होगा, बल्कि टुकड़ों में लगाया जा सकता है. दरअसल मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और नए मामलों की संख्या शहर में चार महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. शहर के पालक मंत्री असलम शेख कहते हैं कि अगले 10 दिनों में संक्रमण के मामले नियंत्रण में नहीं आते हैं तो आंशिक तौर पर लॉकडाउन लगाया जा सकता है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में इस बारे में चर्चा हुई है, जिन्होंने चिंता जताई कि मुंबई में संक्रमण के मामलों की संख्या सितंबर के स्तर पर पहुंच गई है. ज्ञात हो कि महाराष्ट्र में पिछले तीन दिनों से लगातार 10 हजार से ज्यादा कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं. रविवार को महाराष्ट्र में 11 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. मुंबई में नए मामलों की बात करें तो ये 131 दिनों में सबसे ज्यादा 1,361 रहा है. इसके अलावा चिंता की बात ये है कि राज्य में अप्रैल तक 2 लाख से ज्यादा कोरोना वायरस के एक्टिव केस हो सकते हैं. अगर मामले ऐसे ही बढ़ते रहे तो केंद्र सरकार की टीम राज्य का दौरा कर इस बात का निरीक्षण करेगी, राज्य में संक्रमण के मामले लगातार क्यों बढ़ रहे हैं.
- लग सकता है भारी जुर्माना
खबर के मुताबिक असलम शेख ने कहा कि राज्य सरकार पहले संक्रमण को कंट्रोल करने का प्रयास करेगी, इसके लिए मास्क ना पहनने, मैरिज हॉल और पब में भीड़ पर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है. साथ ही संस्थागत क्वारंटीन का विकल्प भी आजमाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने के साथ टीकाकरण कार्यक्रम को व्यापक स्तर पर बढ़ाया जा सकता है. शेख ने कहा कि अगर संक्रमण के मामले बढ़ते रहे तो आंशिक तौर पर लॉकडाउन लगाया जा सकता है.
- संस्थागत क्वारंटीन का विकल्प
कैबिनेट बैठक में उपस्थित एक मंत्री ने कहा कि आंशिक लॉकडाउन से पहले होम आइसोलेशन की जगह संस्थागत क्वारंटीन के विकल्प को आजमाया जाएगा. मौजूदा वक्त में कोरोना वायरस मरीजों को घर में आइसोलेट किया जाता है. हालांकि खबर ऐसी भी आ रही है कि कोरोना वायरस मरीजों के परिजन पर्याप्त सावधानी नहीं बरत रहे हैं और इसकी वजह से मामले लगातार बढ़ रहे हैं. मंत्री ने कहा कि मुंबई और आसपास के इलाकों में सोशल डिस्टैंसिंग का पालन मुश्किल हो रहा है. 
- मनपा की कोई योजना नहीं
हालांकि मुंबई महानगरपालिका ने सोमवार को कहा कि मुंबई में अतिरिक्त प्रतिबंध लगाने की कोई योजना नहीं है. चाहे वो लॉकडाउन हो या नाइट कर्फ्यू. मनपा आयुक्त  इकबाल सिंह चहल कहते हैं कि मौजूदा कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन किया जाएगा और उन्होंने लोगों से सहयोग की अपील की है.