बीजिंग । चीन में कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए लगाए गए प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के साथ ही विनिर्माण गतिविधियों में भी तेजी आ गई है। हालांकि एक उद्योग समूह ने दावा किया है चीन में अर्थव्यवस्था अभी पूरी तरह पटरी पर नहीं लौटी है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी कहा है कि उसने कोरोना वायरस को काबू में कर लिया है। इसके बाद वहां अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश तेज हो गई। दूसरी ओर अमेरिका तथा दूसरी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। 
चीन के सांख्यिकी ब्यूरो और फेडरेशन ऑफ लॉजिस्टिक्स एंड परचेजिंग का क्रय प्रबंधन सूचकांक फरवरी के रिकॉर्ड निचले स्तर 35।7 से बढ़कर 52 हो गया है। 100 अंकों के इस पैमान पर 50 से अधिक अंक यह दर्शाते हैं कि गतिविधियां बढ़ रही हैं। दूसरी ओर निजी क्षेत्र अर्थशास्त्रियों के एक संगठन ने चेतावनी दी कि अर्थव्यवस्था अभी भी चुनौतियों का सामना कर रही है, क्योंकि विनिर्माताओं को फिर से आपूर्ति श्रृंखलाओं का निर्माण करना होगा। चीन के फेडरेशन ऑफ लॉजिस्टिक्स एंड परचेजिंग ने भी इस बात को माना है। उसने एक बयान में कहा ताजा आंकड़ों से यह संकेत नहीं मिलता है कि आर्थिक गतिविधि पूरी तरह से ठीक हो गई है। उसने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए घरेलू मांग बढ़ाने पर जोर दिया।