खण्डवा । पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने देवास के बागली और खंडवा के पंधाना में चुनावी सभा की। दोनों ही जगह उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला। पंधाना में उन्होंने कहा कि शिवराज एक्टर और मोदी जैसा डायरेक्टर कभी नहीं देखा। देश और प्रदेश थक गया है आपकी कलाकारी से, 15 लाख किसान की इनकम डबल न हुई, तो 2019 के चुनाव में राष्ट्रवाद की बात की। एक नाम बता दीजिए, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी यदि भाजपा का हो और कांग्रेस को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने चले हैं। कमलनाथ ने शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा कि 22 हजार से ज्यादा घोषणाएं कर चुके हैं। आपकी कलाकारी से प्रदेश थक चुका है। कुर्सी जाने वाली है। इससे पहले जनता से माफी मांग लीजिए। ये मध्यप्रदेश की जनता है माफ कर देगी। मुझसे 15 महीने का हिसाब मांग रहे थे। साढ़े 11 महीने में मेरी सरकार में 27 लाख किसानों का कर्जा माफ हुआ। सामूहिक विवाह, पेंशन की राशि बढ़ाई। आप तो गाय के नाम की राजनीति करते थे। मैंने 1 हजार गोशालाओं का निर्माण करवाया। बिजली बिल आधे करवाए, तो मिलावट और माफिया के खिलाफ अभियान चलाया, जबकि मैंने कोई घोषणा नहीं की थी। अब आप किस मंच पर आकर 15 साल का हिसाब-किताब देंगे शिवराजजी, पंधाना, खंडवा या और कहीं देंगे।

प्रदेश में निवेश बढ़ेगा, तो बेरोजगारी दूर होगी
कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। नौजवानों का भविष्य नहीं सुधरेगा, तो कैसे मध्यप्रदेश बनेगा। प्रदेश पांच राज्यों की सीमा से घिरा है। हर कोई उद्योगपति यहां निवेश करना चाहता है, लेकिन मध्यप्रदेश की पहचान नहीं है, इसलिए यहां कोई निवेश नहीं करना चाहता। हमारी सरकार ने प्लानिंग की और मिलावट, माफिया को खत्म कर प्रदेश को पहचान दिलाने का काम भी किया।

कांग्रेस नेताओं ने राम दांगोरे को लिया आड़े हाथ
कमलनाथ से पहले भाषण दे रही कांग्रेस नेत्री प्रतिभा रघुवंशी ने महंगाई व महिला अत्याचार पर भाजपा सरकार को घेरा। वहीं कहा कि यहां के विधायक खंडवा में घुड़सवारी करते हैं। डॉ. हीरालाल अलावा ने कहा कि आदिवासी नेता बनते हैं, लेकिन आदिवासियों के हित में एक भी सवाल विधानसभा में नहीं उठा पाए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि वह तो सोशल मीडिया पर ही एक्टिव रहता है। अरुण यादव ने कहा कि पंधाना विधायक तो सुपरस्टार हैं, यहां की जनता को मुंह नहीं दिखा सकते तो मांधाता में ड्यूटी कर रहे हैं।

महाराणा का वंशज हूं, धोखा नहीं दूंगा
कांग्रेस प्रत्याशी राजनारायणसिंह ने कहा कि ये चुनाव दिल्ली की सरकार और किसानों के बीच का है। इंदिरा सागर में हमारी जमीनें डूबीं, लेकिन पानी गुजरात ले जाया जा रहा है। घर में कुंवारा और पड़ोसी का ब्याह करा रही शिवराज मामा की सरकार। पंधाना क्षेत्र के आदिवासियों में भील, भिलाला और बारेला समाज के लोग आते हैं। भील लोगों ने महाराणा प्रताप के साथ कभी धोखा नहीं किया। मैं भी उसी राजपूत कुल में पैदा हुआ है, आदिवासी भाइयों को कभी धोखा नहीं दूंगा।

भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए कार्यकर्ता
पंधाना में कमलनाथ के मंच पर करीब 40 से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल हुए। कमलनाथ ने कांग्रेस का गमछा पहनाकर उनका स्वागत किया।