पटना । जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने राम मं‎दिर ‎निर्माण के ‎लिए 1 लाख 11 हजार 111 रुपए दान ‎किए हैं। जेडीयू अध्यक्ष ने आरएसएस के क्षेत्र संपर्क प्रमुख मोहन सिंह, क्षेत्र प्रचारक रामनवमी और प्रांत प्रचारक राणा प्रताप सिंह को 1 लाख 11 हजार 111 रुपए का चेक प्रदान किया है। इस अभियान में बिहार के कई और नेताओं ने मंदिर निर्माण के लिए दान दिया है। मंदिर निर्माण के लिए दान लेने पहुंचने वालों में मुख्य रूप से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल और प्रदेश महामंत्री देवेश कुमार मौजूद रहे हैं। दरअसल, संघ और बीजेपी के कुछ लोगों की मांग के बाद भी जदयू ने 2018 में स्पष्ट कर दिया था कि वह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश लाने के पक्ष में नहीं है। खुद आरसीपी सिंह ने कहा था ‎कि पार्टी अपने उस मुद्दे पर टिकी रहेगी जो उसने समता पार्टी के रूप में अपनाया था। राममंदिर का मामला या तो आपसी सहमति से या अदालत के फैसले से तय होना चाहिए। 2013 में एनडीए से बाहर जाने से पहले भी जदयू ने विवादित मुद्दों पर अपना रुख स्पष्ट कर रखा था। बता दें ‎कि जदयू ने हमेशा अनुच्छेद 370, राम मंदिर और यूनिफॉर्म सिविल कोड को गठबंधन के एजेंडे से बाहर रखा की बात पर जोर ‎दिया है। अब जब अयोध्या में अदालत के फैसले के बाद राम मन्दिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है तो जदयू नेता मन्दिर निर्माण के लिए दान देने के लिए भी आगे आ रहे हैं। इससे पहले कई बड़े नेताओं में राम मंदिर निर्माण में अपना योगदान दिया है, जिसमें केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने 11 लाख का चेक पिछले दिनों दिया था। इसके अलावा भाजपा के कई और नेताओं ने राम मंदिर निर्माण के लिए अपना योगदान दिया है। इसमें प्रदेश से लेकर राष्ट्रीय स्तर के नेता शामिल हैं। भाजपा भी देश भर में राम मंदिर के लिए धन संग्रह कर रही है। पार्टी ने अपने सभी विधायकों सांसदों से लेकर प्रदेश और केंद्रीय स्तर के नेताओं को इस काम में लगाया है।