नई दिल्ली । तलवारबाज भवानी देवी ने कहा है कि वह आगामी टोक्यो ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहती हैं। भवानी पहली भारतीय तलवारबाज  हैं जिन्हें टोक्यो ओलंपिक के लिए प्रवेश मिला है।  भवानी वहां पहुंचने का लक्ष्य लेकर चल रही हैं, जहां आज तक भारत को कोई फेंसर (तलवारबाज) नहीं पहुंच सका है। भवानी ने कहा कि मैं टोक्यो ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहती हूं और मैं यह सोचकर सीमित नहीं करना चाहती कि मैं वैश्विक आयोजन में क्या हासिल कर सकती हूं या क्या नहीं हासिल कर सकती हूं। वहां जाना है तो यह मानकर जाना होगा कि वहां काफी  संभावनाएं हैं।' वहीं फेंसिंग एसोसिएशन आफ इंडिया के अध्यक्ष और आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि उन्हें भवानी की प्रतिभा में हमेशा से ही भरोसा था। राजीव मेहता ने कहा कि मैंने दो साल पहले कहा था कि वह ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने जा रही है और तब कई लोग मुझ पर हंस रहे थे। अब मैं यह कहने जा रहा हूं कि वह टोक्यो में कुछ खास उपलब्धि हासिल करने जा रही है।' मेहता का मानना है कि भवानी की योग्यता देश में फेंसिंग (तलवारबाजी) का चेहरा बदलने वाली है। उन्होंने कहा, 'खेल मंत्री के साथ, हमने पहले ही इस खेल के लिए रणनीति बना ली है। हम 31 मार्च तक देशभर में 50 सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का निर्माण करना चाहते हैं। इनमें से प्रत्येक में 30 प्रतिभाशाली बच्चों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।