कोटा. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल (Shanti Dhariwal) ने नई पहल की है. उन्होंने कोटा दक्षिण नगर निगम (Kota South Municipal Corporation) के सभी पार्षदों से कहा है कि राजनीति से ऊपर उठकर शहर का समुचित विकास करना हम सबका उत्तरदायित्व है. इसके लिए विकास का विजन लेकर हमें जनभावना के अनुरुप आगे बढ़ना है. स्वायत्त शासन मंत्री ने धारीवाल ने कहा कि उनका इरादा सिर्फ शहर का विकास (City development) करना है. इसके लिए सभी पार्षदों को भी मिलकर साथ चलना होगा.उन्होंने कहा कि हमें जनता ने विकास के लिए चुना है. राजनीतिक भेदभाव भुलाकर सभी पार्षद समन्यवय एवं विकास की प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ें. उन्होंने कहा कि विकास का विजन रखकर चलेंगे तो सभी वार्डों में समानता के साथ विकास कार्य बिना भेदभाव के किये जायेंगे.

 

बजट की कमी नही रहने दी जाएगी
धारीवाल ने सभी पार्षदों से आव्हान किया कि एक-एक पार्षद अपने-अपने वार्ड में पांच-पांच बड़े आधारभूत जनहित के कार्यों को चिन्हित कर अपनी बात रखे. नियमित रूप से होने वाले जनहित के कार्य जैसे, सड़क निर्माण, नाली निर्माण, पेयजल व्यवस्था, बिजली व्यवस्था निरन्तर जारी रहेंगे. स्वायत्त शासन मंत्री वार्डवार एक-एक पार्षद से रू-ब-रू-हुए और विकास के प्रस्तावों पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि पार्षदों द्वारा सुझाये गए कार्य निगम से होंगे या नगर विकास न्यास से यह अधिकारी तय करेंगे लेकिन इसमें बजट की कमी नही रहने दी जाएगी.


अधिकारियों से फीडबैक लेकर उन्हें निर्देश दिये
उन्होंने पार्षदों को आश्वस्त किया कि उनके प्रस्तावों पर लिए गए निर्णयों की जानकारी उन्हें निगम और न्यास द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी. उन्होंने सभी पार्षदों से आव्हान किया कि वे प्रगतिरत कार्यों की निगरानी रखकर गुणवत्ता बनाये रखना सुनिश्चित कराएं. किसी भी प्रकार को कमी पाए जाने पर सीधा उनके ध्यान में लायें. उन्होंने पार्षदों के प्रस्तावों पर सुझाव भी दिए और नगर निगम एवं नगर विकास न्यास के अधिकारियों से फीडबैक लेकर उन्हें निर्देश दिए.

 

पार्षदों से एक करोड़ तक के कार्यों की सूची ली
इस दौरान मंत्री शांति धारीवाल ने कोटा दक्षिण के सभी पार्षदों से एक करोड़ तक के वार्डों के विकास के कार्यों की सूची ली. बीजेपी के वरिष्ठ पार्षद गोपाल राम मंडा ने मंत्री शांति धारीवाल की इस पहल की सराहना की. उन्होंने कहा कि शहर के विकास और वार्ड के विकास में राजनीति से ऊपर उठकर मंत्री शांति धारीवाल ने जो पहल की है वह सराहनीय है. वे विभाग के मंत्री होने के साथ-साथ स्थानीय नेता भी हैं. ऐसे में ज्यादा से ज्यादा विकास कार्य सभी वार्डों में वार्ड पार्षदों की उम्मीदों के मुताबिक हो सकेंगे.

 

कोटा दक्षिण में कांग्रेस को पहली बार मिली है बड़ी जीत
कोटा दक्षिण विधानसभा को बीजेपी का गढ़ माना जाता है. लेकिन बीते नगर निगम चुनाव में कोटा दक्षिण में कांग्रेस ने बोर्ड बनाकर ऐतिहासिक जीत हासिल कर कांग्रेस की जमीन को मजबूत कर लिया है. 80 वार्डों वाले इस निगम में बीजेपी और कांग्रेस के 36-36 पार्षद जीत कर आए हैं. जबकि 8 पार्षद निर्दलीय हैं. उनके सहयोग से कांग्रेस ने अपना बोर्ड बनाया है.