अहमदाबाद | गुजरातभर में कोरोना कहर बरपा रहा है| फरवरी में गुजरात के 6 निगम समेत जिला व तहसील पंचायतों के चुनावों के बाद जिस तरह कोरोना ने राज्य में रफ्तार पकड़ी है, उसे देख गांधीनगर के लोग भयभीत हैं| 17 अप्रैल को गांधीनगर नगर निगम के चुनाव होने हैं और चुनाव के बाद गांधीनगर में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका को लेकर स्थानीय लोगों ने फिलहाल चुनाव स्थगित करने की मांग की है| पिछले दो दिन में गांधीनगर शहर और जिले से कोरोना के उपचार के लिए 160 जितने मरीज सिविल अस्पताल में दाखिल हुए हैं| लगातार संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से सिविल अस्पताल की पांचवीं मंझिल कोरोना मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है| फिलहाल गांधीनगर सिविल अस्पताल में 280 जितने मरीज उपचाराधीन हैं| सिविल अस्पताल में उपचाराधीन मरीजों में 150 मरीजों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है| जिसकी वजह से उन्हें ऑक्सीजन दिया जा रहा है| सिविल अस्पताल में उपचाराधीन और ऑक्सीजन की जरूरत वाले 150 मरीजों में 70 मरीजों को वेन्टीलेटर पर रखने जरूरी है| गांधीनगर के सिविल अस्पताल में 600 बैड की व्यवस्था है| आगामी 17 अप्रैल को गांधीनगर नगर निगम के लिए वोटिंग है और जानकारों का मानना है कि चुनाव के बाद गांधीनगर में संक्रमितों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना है| लोगों की मांग है कि गांधीनगर में उपचाराधीन मरीज और वेन्टीलेटर के मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए राज्य चुनाव आयोग को किसी के दबाव में आए बगैर नगर निगम के चुनाव स्थगित कर देना चाहिए| क्योंकि पिछले दो दिनों के भीतर संक्रमित मरीजों की संख्या जो उछाल आया है, वह चिंताजनक है| लोगों की मांग है कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए राज्य चुनाव आयोग समेत राजनीतिक दलों को भी फिलहाल चुनाव स्थगित करने के बारे में विचार करना चाहिए|