बिलासपुर । मस्तुरी तहसील के नित नए फर्जीवाड़ा के मामले सामने आते रहे जिसमे इस बाद ग्राम पंचायत गोराडीह में रोजगार सहायक, सरपंच पति व पंचायत सचिव द्वारा महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत पंचायत में कराए गए कार्यो में फर्जीवाडा को अंजाम देकर शासन को चुना लगाने का कार्य किया गया है7 वर्ष 2020-21 में ग्राम गोराडीह से मजदूर पलायन कर गए थे उसी समय ग्राम पंचायत गोराडीह में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी का कार्य कराया गया था जिसमे रोजगार सहायक, सरपंच पति, पंचायत सचिव इन तीनों ने मिलकर पलायन किए गए मजदूरों के नाम पर फर्जी मास्टर रोल मे नाम भरकर राशि निकाल कर गबन किया है।
मस्तूरी ब्लाक में यह दूसरा बार फर्जी मास्टर रोल बनाने का नाम आया है जिसमे ग्राम पंचायत  गोराडीह मे महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना में रोजगार सहायक डिगेश भारद्वाज एवं सरपंच श्रीमती भुनेश्वरी यादव पंचायत सचिव  श्याम स्वरूप भानु द्वारा सन 2020-21 में पलायन गए हुए व्यक्तियों के नाम पर फर्जी मास्टर रोल मेन नाम भरकर 910 व्यक्तियों की राशि को निकालकर अपने अपने जेब में भर लिया गया है, ऐसे कई ग्राम पंचायत है मस्तूरी ब्लाक में छत्तीसगढ़ शासन को नुकसान पहुंचाने में लगे हुए हैं ।
इनकी शिकायत जनपद पंचायत मस्तूरी में दी गई एवं बिलासपुर जिला पंचायत सीओ को भी दिया गया साथ ही साथ कलेक्टर ऑफिस में भी इस शिकायत का आवेदन जमा किया गया है। इस तरह के कई फर्जिवाड़ो में मामले मस्तूरी ब्लाक के कई ग्राम पंचायतों से शिकायत आती हैं लेकिन अब तक कोई भी अधिकारी कार्यवाही करने में रूचि नहीं दिखाते जिसको लेकर ग्राम पंचायत गोडाडीह का फर्जी तरीका से रुपए गमन किए गए वालों के ऊपर जांच करने की अपील की गई है।
इन लोगों के नाम में फर्जी तरीके से भरा गया है मस्टररोल -ग्राम गोराडीह के रोजगार सहायक द्वारा योगेश, भारती, महेश्वर, हेमा, जगदीश, रामायण, अंजोर सिंह, लल्लू यादव जयकुमार लहरें लोकपाल, नंद सरपंच पति जगदीश्वर, शिवकुमार मीना अनिल, कोमल फगनी गीता के नाम पर फर्जी मस्टर रोल में भरा गया है।