सांगली. महाराष्ट्र (Maharashtra) के सांगली में एक ही परिवार के 25 लोग कोरोना वायरस (Coronavirus) से पीड़ित हैं. यह पूरा परिवार एक छोटे से स्थान में रहता है जिसकी वजह ये लोग तेजी से संक्रमित होते गए. शुरुआत में परिवार के चार सदस्य सऊदी अरब से लौटे थे और 23 मार्च को इनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी. इसके एक सप्ताह के बाद परिवार के 21 और लोग इस वायरस से पीड़ित पाए गए. इसमें दो साल का बच्चा भी शामिल है. जिला प्रशासन ने हालांकि बताया कि इस वायरस से अभी सामुदायिक संक्रमण नहीं हुआ है क्योंकि सिर्फ ज्ञात संपर्क ही इससे संक्रमित हुए हैं.

सभी संक्रमितों की हालत स्थिर

कलेक्टर अभिजित चौधरी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि एक बड़ा परिवार एक छोटे से स्थान में रह रहा था और इस वजह से सभी संक्रमित हो गए. परिवार के सभी 25 सदस्य अभी सांगली के पृथक केंद्र में भर्ती हैं और उनका इलाज चल रहा है. उनकी हालत अभी स्थिर है. जिले के सरकारी सर्जन सी एस सालुनखे ने कहा कि सभी मरीज एक ही परिवार से हैं और सभी साथ रहते थे.

उन्होंने कहा कि परिवार के अलावा दूसरे संपर्क संक्रमित नहीं हुए हैं इसलिए सामुदायिक संक्रमण से इनकार किया जाता है. महाराष्ट्र से एक मालवाहक वाहनों में सवार होकर बंद के दौरान बाहर निकलने की कोशिश करने वाले 130 से ज्यादा श्रमिकों और दो परिवारों के 13 सदस्यों को ऐसा करने से रोका गया. इस संबंध में पांच चालकों को गिरफ्तार किया गया है.
नहीं कर रहे लोग लॉकडाउन का पालन

राज्य में रविवार रात में सिवरी क्षेत्र में जांच के दौरान पुलिस न एक ट्रक को रोका और जांच के दौरान पता चला कि उसमें उत्तर प्रदेश के बलरामपुर के 53 श्रमिक सवार थे. पुलिस ने ट्रक चालक शाहबान जियाउल्ला रहमानी को गिरफ्तार कर लिया. वहीं राजस्थान के एक परिवार को एक छोटे से टैम्पो में ले जा रहे वाहन को इसी क्षेत्र में रोका गया और वाहन चालक जहीर अकबरअली अहमद को गिरफ्तार कर लिया गया . टैम्पो में छह लोग सवार थे.
इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 78 श्रमिकों को ले जा रहे एक ट्रक को पकड़ा गया. इस ट्रक का इस्तेमाल सामानों को ले जाने में किया जाता है. वहीं एक परिवार को ले जा रहे एक यूवी चालक को भी गिरफ्तार किया गया है. ये लोग अपने रिश्तेदार के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने जा रहे थे.