मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रकोप सबसे अधिक भयावह स्तर पर है. मंगलवार को महाराष्ट्र में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 14 हो गई है. राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के अबतक 335 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार राज्य में कोरोना वायरस से रिवकर करने वालों की संख्या मंगलवार तक 39 थी. अधिकारियों के मुताबिक, मुंबई से 59 नए मामले सामने आए हैं. मुंबई जिले में सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.

5 CISF जवान भी कोरोना पॉजिटिव

सीआईएसएफ के 5 जवान भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. इससे पहले मुंबई के सीएसटी रेलवे पुलिस स्टेशन का एक कॉन्स्टेबल भी कोरोना से संक्रमित मिला था. रेलवे पुलिस के इस कॉन्स्टेबल को 30 मार्च को कल्याण के रुकमणी बाई हॉस्पिटल से कस्तूरबा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई.

कोरोना से लड़ने की कर रहा तैयारी
पुणे में एक स्टार्ट-अप, एनओसीसीए रोबोटिक्स प्राइवेट लिमिटेड के इंजीनियर कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए रात दिन मेहनत कर रहे हैं. ये लोग कम लागत वाले वेंटिलेटर बना रहे हैं. NOCCA रोबोटिक्स के संस्थापकों निखिल कुरेल ने कहा कि "हमारा उद्देश्य पोर्टेबल वेंटिलेटर का निर्माण करना है."
महाराष्ट्र में कोरोना वारयस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में उद्धव सरकार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है. राज्य के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजित पवार ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी की स्थिति में सरकारी प्रतिनिधियों, अफसरों और कर्मचारियों की सैलरी में कटौती की जाएगी. पवार ने बताया कि मुख्यमंत्री समेत सभी विधायक और विधान पार्षद प्रतिनिधियों के मार्च महीने के वेतन में 60 प्रतिशत की कटौती होगी.