भरतपुर. राजस्थान में लुटेरी दुल्हनों का जाल बढ़ता जा रहा है. प्रदेश के भरतपुर जिले के बयाना थाना इलाके के नगला भाड़ गांव में इसका एक नया मामला सामने आया है. यहां 3 लाख रुपये में खरीदकर लाई गई दुल्हन 13 दिन ही बाद ही घर से फरार हो गई. पीड़ित ने इस संबंध में इस्तगासे के जरिये पुलिस थाने में मामला (Csae) दर्ज कराया है.पीड़ित नगला भाड़ निवासी नारायण सिंह गुर्जर ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया है कि धौलपुर जिले के डांग बसई थाना इलाके के भगतपुरा गांव निवासी हरि सिंह गुर्जर उनका परिचित है. वह गत 6 मार्च को उनके घर आया और मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के थाना घाटीगांव इलाके के रामधन गुर्जर और उसके भाइयों को अपनी जान पहचान वाला बताते हुए उनकी बहन सुनीता के साथ शादी कराने की बात कही. इसके लिये हरि सिंह ने कहा कि शादी कराने की एवज में 3 लाख देने पड़ेंगे.

पीड़ित से तीन लाख रुपये नगद लिए
पीड़ित नारायण के अनुसार, उन्‍होंने रुपए देने की हामी भर दी. उसके बाद 9 मार्च की शाम करीब 5 बजे हरि अपने साथ जीतू, रामदीन और उनकी बहन सुनीता को लेकर उनके घर आ गया. वहां उन्होंने शादी की बातचीत कर 3 लाख नगद ले लिये. घर पर ही शादी की औपचारिकताएं करवाने के बाद हरी, जीतू और रामदीन तीनों सुनीता को उसके पास छोड़ कर चले गए.


पति शौच करने गया पीछे से पत्नी फरार हो गई
पीड़ित का आरोप है 22 मार्च की शाम करीब 6 बजे वह शौच करने के लिए जंगल में गया था. सुनीता घर पर अकेली थी. जब वह लौटा तो सुनीता घर पर नहीं मिली. नारायण ने सुनीता के भाई जीतू और बिचौलिए हरि को फोन किया तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि उन्होंने तो शादी कर दी अब उनका क्या लेना देना. वहीं उन्होंने दुबारा फोन न करने की धमकी भी दी. पीड़ित का आरोप है कि जीतू, रामदीन और सुनीता ने शादी का झांसा देकर उसके साथ 3 लाख की ठगी की है.