जालना । महाराष्ट्र के जालना जिले के एक मंदिर और उसके आसपास रहने वाले लोगों समेत 55 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इस मंदिर को जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर अस्थाई रूप से बंद कर दिया है। मालूम हो ‎कि पिछले कुछ दिनों में जालना में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़े हैं। 
रविवार को जिले में कोरोना के 96 मामले सामने आए थे जिसके चलते संक्रमितों का आंकड़ा 14528 हो गया है जबकि मरने वालों की संख्या 384 हो गई है।  एक अधिकारी ने बताया कि जयदेव वाडी में जालीचा देव नाम का मंदिर है। यह ‘महानुभाव हिंदू पंथ’ के अनुयायियों की आस्था का अहम केंद्र है। एक अधिकारी के मुताबिक इस मंदिर में दर्शन पूजन के लिए राज्य के अलग-अलग जिलों से लोग आते हैं और यहां रुकते हैं। रविवार को जांच के दौरान  55 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इनमें से कुछ लोग मंदिर में रह रहे थे या फिर मंदिर के आसपास जिसके चलते एहतियात के तौर पर मंदिर को बंद कर दिया गया है। 
उन्होंने कहा कि मंदिर के आसपास बैरिकेड लगा दिए गए हैं। मंदिर को जाने वाले रास्ते पर भी पुलिस तैनात की गई है जिससे लोगों को आने से रोका जा सके।गांव में एक स्वास्थ्यकर्मियों की टीम को तैनात किया गया है। इन लोगों को गांव और मंदिर कमेटी के सदस्यों की स्क्रिनिंग के लिए तैनात किया गया है। जिला प्रशासन ने हर साल आयोजित होने वाले मेले को भी इस साल रद्द कर दिया है।