नई दिल्ली । टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि अभी उनका बल्ले से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आना बाकि है। जडेजा ने 2019 एकदिवसीय विश्व कप के बाद से ही लगातार आक्रामक पारियां खेलीं हैं। ऑस्ट्रेलिया में हुई टेस्ट सीरीज में भी उन्होंने प्रभावी प्रदर्शन किया था। खेल के हर प्रारुप में उनकी बल्लेबाजी अच्छी रही है। जडेजा ने ट्रेंट ब्रिज टेस्ट की पहली पारी में 56 रन बनाए जो भारत के लिए इंग्लैंड पर 95 रनों की पहली पारी की बढ़त के लिए अहम रहे। सहवाग ने कहा कहा, अब जडेजा भारत के लिए एक मुख्य बाएं हाथ के स्पिनर गेंदबाज हैं और इसके साथ ही बल्ले से उनका अहम योगदान रहता है। उन्होंने अभी तक अपनी क्षमता का एहसास नहीं किया है पर वह पहले से ही शानदार रहे हैं।" 
उन्होंने आगे कहा, "मुझे आज भी याद है जब जडेजा पहली बार आए थे, मैं उस समय उप-कप्तान था। तब हम एक ऐसा खिलाड़ी चाहते थे जो गेंदबाजी के साथ ही बल्लेबाजी भी करे। उस भूमिका में जडेजा ठीक रहे।" सहवाग ने कहा कि जडेजा वर्तमान भारतीय टीम के एक अहम खिलाड़ी हैं, खासकर जब हम टेस्ट क्रिकेट के बारे में बात करते हैं क्योंकि सबसे पहले, वह 25-30 ओवर फेंकते हैं और दूसरी बात जब मुख्य बल्लेबाज आउट हो जाते हैं तो वह आते हैं और नंबर 7 या नंबर 8 पर बल्लेबाजी करते हैं। सहवाग ने कहा, उन्होंने पहले टेस्ट मैच कठिन हालातों में अर्धशतक लगाया था। उनके 56 रनों की वजह से ही भारतीय टीम मैच में बढ़त हासिल कर मेजबान टीम इंग्लैंड पर दबाव बना सकी थी।