कोटा। राजस्थान में लगाये गये सख्त लॉकडाउन की पालना के लिये कोटा ग्रामीण के इलाकों में बीट कांस्टेबल गांवों में ही रहेंगे। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुये कोटा रेंज पुलिस ने बीट कांस्टेबलों के माध्यम से अपने अधीन आने वाले जिलों में करीब 300 शादियों को समझाइश के बाद निरस्त करवा दिया है। वही रेंज के पुलिसकर्मियों और उनके रिश्तेदारों की भी मई महीने में होने वाली 21 शादियों को निरस्त कर पुलिस ने अनूठी मिसाल पेश की है। पुलिस महकमे ने ग्रामीणों की समझाइश के लिये पुलिसकर्मियों को बड़ा जरिया बनाया है। 
  कोटा रेंज के आईजी रविदत्त गौड़ ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में गाइडलाइन की पालना सख्ती से कराने के लिये ग्रामीण इलाकों के बीट कांस्टेबलों को गांव में ही रहने के निर्देश दिए गए हैं। इससे गांवों में होने वाली शादियों को राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार संपन्न करवाई जा सकेगी। चूंकि कोटा रेंज का एरिया मध्य प्रदेश की सीमाओं से सटा हुआ है। ऐसे में मध्य प्रदेश की सीमाओं पर भी अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात किया गया है। सीमाओं को फिलहाल सील कर दिया गया है। अति आवश्यक सेवाओं के लिए ही आवागमन के निर्देश पुलिसकर्मियों को दिए गए हैं। इसके साथ ही शहरी क्षेत्र में भी लॉकडाउन की सख्ती से पालना करवाई जायेगी। कोटा शहर में इसके लिये 74 चेक प्वाइंट बनाए गए हैं। कोटा शहर की सीमाओं पर अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया गया है। लापरवाही बरतने वालों को खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उल्लेखनीय है कोटा राजस्थान में कोरोना संक्रमण का चौथा बड़ा केन्द्र हैं। यहां कोरोना के हालात बेकाबू हो चुके हैं। इसे रोकने के लिये प्रशासन ने अब युद्धस्तर पर तैयारियां की है।