मास्को । वैश्विक मंच पर एक बार फिर पाकिस्तान की किरकिरी हुई है। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के पाकिस्तान दौरे के बाद दावा किया गया कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हर मोर्चे पर आर्थिक सहायता मुहैया कराने का प्रस्ताव दिया है। जिसे रूसी राजनयिकों ने अब झूठा करार दिया है। रूस के राजनयिकों ने ब्लैंक चेक वाले पाकिस्तान के दावे को झूठा प्रसार और फेक न्यूज का हिस्सा बताया है। दरअसल पाकिस्तानी मीडिया में इमरान खाने के ब्लैंक चेक वाले बयान को छापा था, जिसके बाद रूसी राजनयिकों ने इसे फेक न्यूज बताया है। रूसी राजनयिकों के सूत्रों ने बताया कि ये पाकिस्तान की पुरानी आदत है कि वो रूस के साथ अपने रिश्ते को बढ़ा-चढ़ाकर बताता है। उन्होंने आगे कहा कि मॉस्को पाकिस्तान को सैन्य उपकरण बेचने नहीं जा रहा है। बता दें कि हाल ही में रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के बाद पाकिस्तान का दौरा किया था। उस दौरान विदेश मंत्री ने पाकिस्तान को सैन्य उपकरण मुहैया कराने की बात कही थी।  पाकिस्तानी मीडिया ने एक रिपोर्ट छापकर दावा किया कि रूसी विदेश मंत्री ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को एक महत्वपूर्ण संदेश दिया और ये संदेश राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का था। एक पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया कि विदेश मंत्री लावरोव ने कहा था कि मैं अपने राष्ट्रपति की तरफ से एक संदेश लेकर आया हूं, जिसमें उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को जिस चीज की भी जरूरत रहेगी, रूस उसके तैयार रहेगा।