चेन्नई तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में डीएमके को मिली जीत के बाद पार्टी प्रमुख एमके स्टालिन सात मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शुक्रवार को यह शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11 बजे राजभवन में आयोजित होगा।

दो मई को आए नतीजों में डीएमके ने तमिलनाडु विधानसभा की कुल 234 सीटों में से 133 पर कब्जा जमाया है। चुनाव आयोग के फाइनल नतीजों के अनुसार, के पलानीस्वामी के नेतृत्व वाली एआईएडीएमके को सिर्फ 66 सीटें ही मिल सकीं। 

इससे पहले, पलानीस्वामी ने अपना और अपने मंत्रिमंडल का त्यागपत्र सोमवार को राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को सौंपा था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। राज भवन द्वारा सोमवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार, ''तमिलनाडु के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री तिरू एडाप्पडी के. पलानीस्वामी और उनकी मंत्रिपरिषद का त्यागपत्र तीन मई, 2021 की अपराह्न से स्वीकार कर लिया।'' विज्ञप्ति के अनुसार, लेकिन पुरोहित ने उनसे और मौजूदा मंत्रिपरिषद से वैकल्पिक व्यवस्था होने तक पद पर बने रहने का अनुरोध किया है। साथ ही राज्यपाल ने ''तमिलनाडु की 15वीं विधानसभा (2016 से 21) को भंग कर दिया है।

वहीं, हार के बाद पलानीस्वामी ने राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने वाले डीएमके अध्यक्ष एम के स्टालिन को सोमवार को शुभकामनाएं दीं। पलानीस्वामी ने ट्वीट किया, ''मैं एम के स्टालिन को शुभकामनाएं देता हूं, जो तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने वाले हैं।'' तमिलनाडु विधानसभा में 234 सीट हैं और बहुमत के लिए 118 सीटों की जरूरत होती है।