अहमदाबाद | गुजरात में खासकर अहमदाबाद में कोरोना के नियमित केसों की संख्या 3000 को पार कर गई है| रविवार को राज्य में 10340 नए केसों में 3641 मामले केवल अहमदाबाद के थे| दिन प्रति दिन स्थिति गंभीर होते देख राज्य के कई शहरों और गांवों में स्वैच्छिक लॉकडाउन का दौर शुरू हो गया है| हांलाकि सरकार ने राज्य में लॉकडाउन लगाने से साफ इंकार कर दिया है| ऐसे में अहमदाबाद में शह में अब तो भाजपा नेता और नगर पार्षद ही स्वैच्छिक लॉकडाउन की लोगों और व्यापारियों से अपील करने लगे हैं| अहमदाबाद के कई इलाकों में स्वैच्छिक बंद का ऐलान भी कर दिया गया है| इन इलाकों में साबरमती, राणीप, न्यू राणीप, सरदारनगर, कुबेरनगर, नरोडा, नरोडा पाडिया इत्यादि के व्यापारियों ने दोपहर बाद व्यावसायिक गतिविधियां बंद करने का फैसला किया है| व्यापारियों के फैसले के चलते राणीप गाम, बलोलनगर, न्यू राणीप, माणकी सर्कल, चैनपुर रोड, साबरमती, रामनगर, धर्मनगर, रामनगर सब्जी मंडी इत्यादि क्षेत्र दवाईयों की दुकानें छोड़ अन्य सभी दुकानें बंद रहीं| राणीप और न्यू राणीप में दोपहर 2 बजे से दुकानें स्वैच्छा से बंद रखने का व्यापारियों ने ऐलान किया है और यह व्यवस्था 25 अप्रैल तक जारी रहेगी| साबरमती व्यापारी एसोसिएशन ने साबरमती इलाके में दोपहर 3 बजे के बाद दुकानें बंद करने का फैसला किया गया है| स्थानीय नगर पार्षद चेतन पटेल और अन्य नेताओं की व्यापारियों के साथ बैठक हुई, जिसमें 3 बजे दुकानें बंद करने का फैसला किया| यह व्यवस्था आगामी 30 अप्रैल तक जारी रहेगी| केवल दवाईयों की दुकानें खुली रहेंगी| बता दें कि शनिवार को अहमदाबाद के माधुपुरा, कालूपुर चोखा बाजार, माणेकचौक सोनी बाजार, खोखरा क्षेत्र में स्वैच्छिक लॉकडाउन रहा| शहर के मणीनगर क्षेत्र का सिंधी बाजार पूरी तरह बंद रहा|