नई दिल्ली। एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में शानदार प्रदर्शन के बाद अब भारतीय मुक्केबाज टोक्यो ओलंपिक को लेकर उत्साह से भरे हुए हैं। ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले ये मुक्केबाज कुछ दिनों के आराम के बाद तीन सप्ताह के प्रशिक्षण के लिए विदेश जाएंगे। एशियाई चैम्पियनशिप में भारतीय मुक्केबाजों ने दो स्वर्ण सहित रिकार्ड 15 पदक जीते हैं। भारतीय मुक्केबाजों के प्रदर्शन से उत्साहित टीम निदेशक सैंटियागो नीवा ने कहा कि मुक्केबाज 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक से पांच से सात दिन पहले टोक्यो पहुंचेंगे।
नीवा ने कहा अभी हम अभ्यास के लिए विदेश जाएंगे। इसके लिए योजना बन रही है और अगले कुछ दिनों में यह तय हो जाएगा कि मुक्केबाजों को अभ्यास के लिए कहां भेजा जाएगा। जहां भी भेजा जाएगा अभ्यास शिविर तीन सप्ताह का होगा। हम कुछ चीजों को ठीक करने के लिए भारत वापस आएंगे, और फिर खेलों से पांच-सात दिन पहले टोक्यो जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण खिलाड़ियों का देश में अभ्यास का पर्याप्त अवसर नहीं मिल पा रहा है। नीवा ने कहा, ‘‘ कुल मिलाकर मैं प्रदर्शन से संतुष्ट हूं और मैं यह सिर्फ पदक जीतने के लिए नहीं कह रहा हूं। मुक्केबाज अमित शानदार लय में थे, विकास का सेमीफाइनल में चोटिल होना दुर्भाग्यपूर्ण था और आशीष भले ही पदक नहीं जीता हो लेकिन उसने भी अच्छा प्रदर्शन किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ निश्चित रूप से कुछ छोटे मसलों का हल निकालना बाकी है, यह जो व्यक्तिगत खिलाड़ियों के बारे में है। हम ओलंपिक से पहले बचे हुए कुछ हफ्तों में इस पर काम करेंगे। मैं कह सकता हूं कि हम 80 फीसदी तैयार हैं, हम बाकी 20 फीसदी की कमी को दूर करेंगे।’’ नीवा ने जिन छोटे मुद्दों का जिक्र किया उनमें करीब से सटीक मुक्केबाजी और शरीर पर लगने वाले पंच शामिल हैं।