राजकोट | कई योद्धा ऐसे होते हैं जो अपने कर्त्तव्य के लिए जान की बाजी लगा देते हैं| ऐसी ही एक घटना राजकोट से सामने आई, जिसमें फायर विभाग के अधिकारी ने अपनी जान की परवाह किए बगैर आग में फंसे महिला और उसके दोनों बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला| घटना है राजकोट के बेडी नाका के निकट स्थित कोमल एपार्टमेंट की| कोमल एपार्टमेंट की चौथी मंझिल के एक मकान में आग लग गई थी| सूचना मिलते फायर ब्रिगेड की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई| आग लगने से महिला अपने दोनों बच्चों को लेकर बाथरूम में घुस गई| फायर अधिकारी आईवी खरे ने जान की बाजी लगाकर महिला और उसके दोनों बच्चों को बाहर निकाला| एक बच्चे को अपने सीने से लगाकर नीचे की ओर दौड़ पड़े| इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद फायर अधिकारी आईवी खरे की जांबाजी की लोग प्रशंसा कर रहे हैं| प्राथमिक जांच में गैस रिसाव की वजह से आग लगी होने का खुलासा हुआ है| लेकिन फायर ब्रिगेड की टीम के समय पर पहुंचने से बड़ी दुर्घटना टल गई| खासकर राजकोट के चीफ फायर ऑफीसर परिवार के लिए देवदूत बनकर पहुंचे|