लखनऊ ।उत्तर प्रदेश की जेलों में भी कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपाया है। प्रदेश की जेलों जेलों में कैद 1641 बंदी कोरोना पॉजिटिव हैं। वहीं कोरोना से अब तक 6 मौतें हो चुकी हैं। इनमें तीन बंदी, दो जेल सुरक्षाकर्मी और एक अधिकारी की कोरोना से मौत हुई है। इस बीच जेलों में कोविड वैक्सीनेशन जारी है। अब तक 22375 बंदियों का वैक्सीनेशन हो चुका है। बताया जा रहा है कि अब सिर्फ 3415 बंदियों का वैक्सिनेशन बचा है। प्रदेश की कुल 72 स्थाई जेलों में 112006 बंदी हैं। बता दें बांदा जेल में बंद माफिया मुख़्तार अंसारी भी कोरोना पॉजिटिव है। एंटीजन टेस्ट में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। हालांकि मुख्तार अंसारी को कोई लक्षण नहीं है। उसे बांदा जेल के बैरक नंबर 16 में आइसोलेट किया गया है। किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर उसका इलाज किया जाएगा। गत शनिवार को मुख़्तार अंसारी समेत अन्य कैदियों का एंटीजन टेस्ट हुआ था। जिसमें मुख़्तार व तीन अन्य कैदी पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद रविवार को उसका आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया, जिसमें भी वह संक्रमित पाया गया।
बांदा जेल प्रभारी अधीक्षक पीके त्रिपाठी बताया कि मुख़्तार को आइसोलेशन में रखा गया है। मेडिकल टीम उसके हेल्थ पर नजर बनाए हुए हैं। किसी भी तरह की समस्या आने पर इलाज शुरू किया जाएगा। फिलहाल उसमें कोई लक्षण नजर नहीं आ रहा है। शनिवार देर शाम बांदा जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मंडल कारागार में लगभग 40 बंदियों के कोरोना सैपल जांच के लिए लिए थे, जिसमें मुख्तार अंसारी का भी सैंपल लिया गया था। आज मुख्तार अंसारी के साथ 3 अन्य बंदी कोरोना की चपेट मे आए हैं, जिसके बाद मंडल कारागार में हड़कंप मचा हुआ है फिलहाल अब तक मुख्तार अंसारी को उसकी बैरक नंबर 16 में जहां रहता था वहीं रखा गया है।