कोटा. कोचिंग सिटी कोटा में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही हालात बेहद भयावह (worsened) हो गये हैं. कोरोना मरीजों के इलाज के लिये संसाधनों को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. अस्पताल में पीड़ितों को वेंटिलेटर उपलब्ध कराते-कराते मेडिकल सिस्टम खुद वेंटिलेटर आ गया है. कोटा के अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड फुल (Oxygen bed full) हो गये हैं.इसलिए यहां हाई ऑक्सीजन की जरूरत वाले रोगियों को भर्ती नहीं किया जा रहा है. कई मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भर्ती करने के लिए भेजा जा रहा है. ऑक्सीजन सिलेंडरों की किल्लत और भारी मांग के चलते इसकी कालाबाजारी भी शुरू हो गई है. पुलिस ने इस मामले में दो युवको को गिरफ्तार किया है. उनसे ऑक्सीजन के 35 सिलेंडर जब्त किये गये हैं.

रामगंजमंडी में दुकानों पर गुपचुप तरीके से उतारे सिलेंडर
पुलिस के अनुसार कोटा ग्रामीण में बुधवार देर रात दो युवकों को चोरी छिपे मिनी ट्रक से ऑक्सीजन सिलेंडर उतारते पकड़ा गया है. पूछताछ में दोनों युवक इन सिलेंडरों के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाये. इस पर पर दोनों को पकड़कर थाने लाया गया. बताया जा रहा है कि उनके पास ट्रक के कोई विशेष दस्तावेज भी मौजूद नहीं थे. प्रारंभिक जानकारी में सामने आया है कि ये सिलेंडर झालावाड़ मेडिकल कॉलेज जाने थे. लेकिन बीच राह में ही इनमें से कुछ सिलेंडर रामगंजमंडी की दो दुकानों पर गुपचुप तरीके से उतार लिये गये.

कालाबाजारी करना चाह रहे थे युवक
पकड़े गये आरोपी युवक जाकिर और नानेज मराठा रामगंजमंडी के गरीब नवाज कॉलोनी और मुख्य बाजार के निवासी हैं. प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि मुख्य आरोपी नानेज मराठा है और उसकी यहां पर दुकान है. दोनों युवक सिलेंडर को ज्यादा दामों पर बेचकर कालाबाजारी करने की फिराक में थे. फिलहाल रामगंजमंडी थाना पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.