मुंबई । पिछले सप्ताह उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन की कीमत में रविवार को भारी गिरावट आई। यह 14 फीसदी लुढ़ककर 51,541 डॉलर तक पहुंच गया। भारतीय रुपयों के हिसाब से एक बिटक्वाइन की कीमत 36 लाख रुपए अधिक है। इसके बाद एक बिटक्वाइन की कीमत 53,991 डॉलर पर पहुंच गई, जो बुधवार के उच्च स्तर के मुकाबले 12 हजार डॉलर नीचे है। दरअसल, तुर्की के सेंट्रल बैंक ने देश में खरीद के लिए क्रिप्टोकरेंसी और क्रिप्टो एसेट्स के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। तुर्की का कहना है कि इससे लोगों को भारी नुकसान होगा और इसमें लेनदेन का खतरा भी है। इसके बाद ही बिटक्वाइन में गिरावट आना शुरू हुई। इससे पहले चार जनवरी को एक बिटक्वाइन की कीमत 27,734 डॉलर थी। नौ फरवरी को बिटक्वाइन की कीमत 44,141 डॉलर पर पहुंच गई थी। 17 मार्च को एक बिटक्वाइन 55,927.77 डॉलर पर पहुंच गया। एक अप्रैल को बिटक्वाइन की कीमत 60 हजार डॉलर के पार पहुंची थी। गौरतलब है ‎कि ब्लूमबर्ग बिटक्वाइन विशेषज्ञों का दावा है कि इसकी कीमत चार लाख डॉलर (करीब 29864140 रुपए) तक पहुंच सकती है।