शयन कक्ष यानि बेडरूम, यह घर का वह कोना होता है कि जहां जाकर हर कोई शांति पाना चाहता है। खासतौर पर प्रत्येक दांपत्ति की कामना होती है कि बेडरूम उनके जीवन में प्यार घोल दें। परंतु कई बार यह कामना पूरी नहीं हो पाती। जिसका कारण होती है बेडरूम में ही पड़ी वस्तुएं। जी हां, वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ ऐसी चीज़ें होती हैं जो जीवन में प्यार की जगह वहीं रह रहे लोगों के जीवन में अशांति फैलाती है। क्या वो चीज़ें, जो शांति में बाधन बनती है। आइए जानते हैं वास्तु शास्त्र से

कई बार लोगों को कहते पाया जाता है कि शयन कक्ष में प्रवेश करते ही उन्हें घुटन होना व तनाव महसूस होने लगता है। तो ऐसे में वास्तु शास्त्र में 5 चीज़ों के बारे में बताया गया, जो अपना पूरा प्रभाव डालते हैं।

वास्तु शास्त्र के अनुसार इस बात का खाास ख्याल रखें कि कभी भी अपने जूते-चप्पल सोने के कमरे में न रखें। कहा जाता है कि जूतों व चप्पल आदि निकलने वाली दूषित तरंगे दंपत्ति का जीवन तबाह कर सकती हैं।

कुछ लोगों की आदत होती है कि वह बेडरूम में ही झाड़ू आदि रख लेते हैं। ऐसा करने से वहां रह रही दंपत्ति की बीच रोज़ाना कलह होने लगता है। इसलिए अगर आप के कमरे में झाड़ू है तो तुरंत इसे कममरे से बाहर रख दें। वास्तु के अनुसार इसे स्टोर रूम में रखा जा सकता है।

वास्तु के अनुसार बेडरूम में कभी फटे-पुराने कपड़े जमा कर के नहीं रखने चाहिए। कहा जाता है इससे जीवन में कंगाली और तंगहाली का प्रवेश कर जाती है।

कुछ लोगों की आदत होती है कि घर में प्लास्टिक और पोलिथीन जमा करते रहते हैं, हालांकि इन दोनों का उपयोग लगभग बंद हो चुका है। अगर आप शयन कक्ष में सब जमा कर रखें हुए हैं तो आज ही इन्हें बेडरूम से बाहर निकाल रख दें। इससे जीवन में नकारात्मकता का आगमन होता है।

इनके अतिरिक्त धूल, मिट्टी, मकड़ी के जाले, पुराने कॉस्मेटिक्स, खाली डिब्बे, डिब्बी,कनस्तर, पोंछे, टूटे कांच, क्रॉकरी, पालतु पशु, खराब बिस्तर तकिया,तीखे कलर की चीजें, टूटे और आवाज करने वाले पंखें आदि को भी बेडरूम में नहीं रखना चाहिए।