मुंबई । सबसे बड़े रईस और इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क का कहना है कि बिटकॉइन रखना कैश रखने से थोड़ा बेहतर है। लेकिन यह थोड़ा अंतर ही बिटकॉइन को बेहतर एसेट बनाता है। उनकी कंपनी टेस्ला ने दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन में 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। मस्क ने ट्वीट किया, 'हालांकि जब फिएट करेंसी का रियल इंट्रेस्ट निगेटिव हो, तब कोई मूर्ख आदमी ही दूसरे विकल्प नहीं देखेगा। बिटकॉइन भी लगभग फिएट मनी की तरह ही है। इसमें लगभग ही कीवर्ड है। उन्होंने बिटकॉइन में टेस्ला के निवेश का भी बचावकर कहा कि बिटकॉइन कैश से अलग है और यही अंतर क्रिप्टोकरेंसी को एंडवेंचरस बनाता है। इसकारण टेस्ला ने इसमें निवेश किया है।
टेस्ला के निवेश से बिटकॉइन को जैसे पंख लगे हैं। इसी हफ्ते इसकी कीमत 52 हजार डॉलर (यानी 37 लाख करोड़ रुपये से अधिक) के पार पहुंच गई थी। शुक्रवार को 51284 डॉलर के आसपास ट्रेड कर रही थी। मस्क ने हाल में ट्विटर पर डोजीकाइन को भी प्रमोट किया था। इससे क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में भी उछाल आई थी। बिटकॉइन एक तरह की क्रिप्टोकरंसी है। 'क्रिप्टो' का मतलब होता है 'गुप्त'। यह एक डिजिटल करंसी है, जो क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर काम करती है। इसकी सबसे खास बात ये है डिजिटल होने की वजह से आप इसे छू नहीं सकते। बिटकॉइन की शुरुआत 2009 में हुई थी। बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ रही है। गुरुवार सुबह के हिसाब से इसकी कीमत करीब 8.31 लाख को क्रॉस कर चुकी है। यह एक तरह की डिजिटल करंसी है। इसकी शुरुआत एलियस सतोशी नाम के शख्स ने की थी।