कोटा | राजस्‍थान के कोटा में बेटे की याद आई तो मां ने व्‍हाट्सऐप स्टेटस डाला आई मिस यू और कुछ ही घण्टों बाद बेटे के मौत की खबर आ गई. श्रीनाथपुरम इलाके में इंजिनियरिंग कॉलेज में सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रहे एक छात्र ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. छात्र का शव उसके दोस्त के कमरे में फांसी से लटका हुआ मिला.

मृतक जयपुर के सांगानेर निवासी छात्र मोहित कुमार कोटा में श्रीनाथपुरम इलाके में किराए से रहकर आरटीयू कॉलेज से सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रहा था. अपने दोस्त के कमरे में फांसी लगा ली. उसका दोस्त कमरे में पहुंचा तो छात्र फांसी पर लटका हुआ मिला. पुलिस को सूचना लगने पर मौके पर पहुंची ओर छात्र को अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया. शव को मोर्चरी में रखवाया गया है.

बताया जा रहा है कि मृतक छात्र मोहित देर रात तक उसके दोस्त अंकित मीणा के कमरे में प्रेक्टिकल की तैयारी कर रहा था. उसके साथ अंकित मीणा व अन्य छात्र भी साथ में ही पढ़ाई कर रहे थे. देर रात मोहित के मोबाइल पर किसी का कॉल आया ओर वह बात करते हुए कमरे के बाहर चला गया. फिर कमरे में आकर उसने सोने जाने की बात कहकर वहां से अन्य छात्र के कमरे में चला गया. थोड़ी देर बाद दोस्त ने मोहित को फांसी पर लटका हुआ देखा. वहीं परिजनों का कहना है क‍ि मेरा बेटा सुसाइड नहीं कर सकता. मोहित के पिता जोहरीलाल की जयपुर में प्राइवेट मेडिकल कम्पनी में कार्य करते है. बड़ा बेटा मनीष त्रिपुरा से एनआईटी की तैयार कर रहा है. लॉकडाउन के बाद मोहित 24 फरवरी को कोटा पहुंचा, यहां 14 दिन उसके दोस्त अंकित मीणा के साथ रहने के बाद उसने वहीं कमरा किराए पर ले रखा था. रात को माता-पिता से फोन पर बात हुई. मोहित की मां ने कहा कि 'मेरा बेटा सुसाइड' नहीं कर सकता. उसकी मौत की जांच होनी चाहिए.

आरकेपुरम एएसआई जवाहर लाल ने बताया कि श्रीनाथपुरम में छात्र की सुसाइड का मामला आया था, जिसे अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. मां ने वॉटसअप स्टेटस डाला आई मिस यू. मोहित की मां ने बेटे से बात करने के बाद अपनी व्‍हाट्सऐप पर बेटे के साथ का फोटो लगाया ओर स्टेटस पर 'आई मिस यू...लिखा, लेकिन उसे क्या पता था कि आई यू आई मिस यूं लिखने के बाद उनका बेटा हमेशा के लिए यादों में ही रह जाएगा. मां को बेटे की मोत की खबर मिली तो होश उड़ गए. उन्होंने सोचा भी नहीं था कि अब बेटे की याद में ही जिन्दगी गुजारनी पड़ेगी. मृतक के कमरे से किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिलने से मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया हैं. केस दर्ज कर पुल‍िस मामले की जांच कर रही है.