कोटा । कोटा पु‎लिस ने महज 24 घंटे में किराना व्यापारी की हत्या के 2 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बंटी उर्फ मनोज और राजू मद्रासी गिरफ्तार किए गए हैं। पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया ‎कि यह हत्या लूट के इरादे से की गई थी। किराना व्यापारी की हत्या कर आरोपियों ने गल्ले में रखे 1500 रुपये निकाल लिए थे और साथ ही किराना व्यापारी का मोबाइल लेकर मौके से फरार हो गए थे और चेन्नई जाने की ‎फिराक में थे। पुलिस का कहना है ‎कि दोनों आरोपियों के खिलाफ पहले से ही 4 मामले दर्ज हैं। शुक्रवार को लक्ष्मी विहार इलाके में किराना व्यापारी दौलतराम की लाश मिली थी। दौलतराम के हाथ-पैर और मुंह पर कपड़ा बंधा था। वारदात के बाद से ही पुलिस की अलग-अलग टीमें अपराधियों की तलाश में जुट गई थीं। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी छत के रास्ते दौलतराम के घर में घुसे। दौलतराम ने जब उनका विरोध किया तो लोहे के रॉड से उन्होंने दौलतराम के सिर पर हमला कर दिया। उसके बाद दोनों आरोपियों ने दौलतराम के मुंह में पेचकस की सहायता से मोजे सहित अन्य कपड़े ठूंस दिए। इस दौरान भी दौलतराम ने बदमाशों से जमकर संघर्ष किया था। जानकारी के मुता‎बिक, दौलतराम का अपनी पत्नी से तलाक हो चुका है, जिसके कारण वे अकेले ही रहता थे। आरोपियों को इसके बारे में पूरी जानकारी थी। आरोपियों ने छत के रास्ते अंदर प्रवेश कर लूट की वारदात को अंजाम देने के क्रम में दौलतराम की हत्या कर दी। इसके बाद वे गल्ले में रखे 1500 रुपये और मोबाइल लेकर भाग निकले। 
पुलिस ने बताया ‎कि मृतक के शरीर पर करीब 16 चोटों के निशान थे। आरोपियों ने बेरहमी से गला घोटकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। वारदात के बाद सीआई, दो डीएसपी, एडिशनल एसपी और एसपी ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का राजा लिया। बताया गया ‎कि जब दोनों आरोपी देर रात छत के रास्ते दौलतराम के घर में उतरे, उस वक्त दौलतराम टीवी देख रहे थे। बदमाशों ने उन्हें काबू करने के बाद टीवी का वॉल्यूम तेज कर दिया। फिर उन्होंने वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने इस वारदात को सुलझाने के लिए करीब दो दर्जन लोगों को थाने बुलाकर पूछताछ की और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों को मात्र 24 घंटे में ही गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।