अहमदाबाद । भारतीय  स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल की शानदार गेंदबाजी के सामने एक बार फिर मेहमान टीम इंग्लैंड ढ़ेर हो गयी।  इसी के साथ ही भारतीय टीम ने चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन ही इंग्लैंड की टीम को एक पारी और 25 रनों से हरा दिया।  इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने 3-1 से सीरीज जीतने के साथ ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया है। अक्षर और अश्विन ने 5-5 विकेट लेकर इंग्लैंड टीम को कोई अवसर नहीं दिया। मेहमान टीम को पारी की हार से बचने के लिए 160 रन बनाने थे पर उसकी टीम दूसरे पारी में केवल 135 रनों पर ही आउट हो गयी। इस मैच में युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के शानदार शतक और वाशिंगटन सुंदर के 96 रनों की सहायता से भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 365 रन बनाकर 160 रन की बढ़त ली थी। वहीं टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए  इंग्लैंड टीम पहली पारी में 205 रनों पर ही आउट हो गयी थी। इसके बाद  दूसरी पारी में मेहमानों की हालत और खराब हो गयी। कप्तान जो रूट 30 रनों और डेन लौरेंस 50 के अलावा कोई भी अश्चिन और अक्षर के सामने टिक नहीं पाया।  डोम सिबली 3 , जैक क्राउली 5 रनों पर ही आउट हो गये। जॉनी बेयरस्टॉ के साथ ही ऑलराउंडर बेन स्टोक्स खाता भी नहीं खोल पाये। केवल चार बल्लेबाज ही दो अंकों तक पहुंच पाये। लौरेंस ने सबसे ज्यादा 50 रन बनाये। 
वहीं भारतीय टीम की पारी का आकर्षण ऋषभ के शतक के अलावा  सुंदर की 96 रनों की पारी रही। सुंदर ने 174 गेंद में नाबाद 96 रन बनाए पर आखिरी तीन विकेट जल्दी गिरने से वह शतक पूरा नहीं कर पाये। सुंदर की अक्षर पटेल के साथ आठवें विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी हुई। अक्षर ने 97 गेंद में 43 रन बनाये। सुंदर ने अपनी पारी में दस चौके और एक छक्का लगाया जबकि अक्षर ने पांच चौके और एक छक्का जड़ा।       
दोनों बल्लेबाजों ने लगातार रन बनकार विरोधी गेंदबाजों पर दबाव बढाना जारी रखा। इंग्लैंड की ओर से स्टोक्स ने चार जबकि जेम्स एंडरसन ने तीन विकेट लिए।