सोशल मीडिया पर एक साल पहले मिलीं, 13 दिन पहले जयपुर से भागकर महाराष्ट्र में रचाई शादी

  • जयपुर की नाहरगढ़ थाना पुलिस ने महाराष्ट्र के गढ़चिरौली से लड़की को बरामद किया
  • 18 दिसंबर को महाराष्ट्र से लड़की जयपुर आई और फिर अपनी सहेली को साथ ले गई

सोशल मीडिया पर दो लड़कियों की दोस्ती, प्यार और फिर शादी का मामला सामने आया है। एक साल तक दोनों की सोशल मीडिया पर चैटिंग हुई। दोस्ती परवान चढ़ते हुए प्यार तक पहुंची तो दोनों ने शादी करने की ठानी। फिर महाराष्ट्र में रहने वाली लड़की 1200 किमी. दूर से जयपुर आई। यहां जयपुर वाली लड़की से मुलाकात की और फिर दोनों वापस महाराष्ट्र भाग गई और वहां शादी कर ली।

इसके बाद जयपुर से भागी लड़की के परिजनों ने नाहरगढ़ थाना पुलिस को बेटी की गुमशुदगी की सूचना दी। पुलिस लड़की को तलाश करते हुए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली पहुंची। वहां लड़की ने बताया कि उसने अपनी फ्रेंड से मंदिर में विधि-विधान से शादी कर ली है। वे दोनों एक दूसरे को छोड़ने को तैयार नहीं हुई। इसके बाद पुलिस दोनों लड़कियों को जयपुर ले आई। पुलिस ने यहां लड़की को उसके परिजनों को सुपुर्द कर दिया है।

ब्यूटी पार्लर में काम करती है जयपुर की लड़की, जिसके साथ भागी वो लड़की भी जॉब करती है
जयपुर नार्थ जिले के एडिशनल डीसीपी धर्मेंद्र सागर ने बताया कि जयपुर से भागने वाली युवती नाहरगढ़ इलाके में रहती है। वहीं पर एक ब्यूटी पार्लर में काम करती है। करीब एक साल पहले उसकी मुलाकात सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र में गढ़चिरौली की रहने वाली एक लड़की से हुई।

लगातार चैटिंग और वीडियो कॉल से उनके बीच दोस्ती गहरी हो गई जो कि प्यार में बदल गई। उन्होंने एक दूसरे के साथ शादी करने की प्लानिंग कर ली। इसके लिए 18 दिसंबर को महाराष्ट्र की रहने वाली लड़की जयपुर आई और यहां से लड़की को अपने साथ भगाकर महाराष्ट्र ले गई। वहां दोनों ने शादी कर ली।

मोबाइल फोन नहीं था, इसलिए फेसबुक से मिला सुराग, तब महाराष्ट्र पहुंची पुलिस

जयपुर से लापता लड़की के परिजनों ने रिपोर्ट पर नाहरगढ़ थानाप्रभारी मुकेश खारड़िया ने पड़ताल शुरू की। लेकिन लड़की के पास मोबाइल फोन नहीं था। ऐसे में उसे तलाशना मुश्किल हो रहा था। तब छानबीन में सामने आया कि लापता हुई लड़की की महाराष्ट्र की लड़की से गहरी दोस्ती थी। उनके चैट भी मिले। तब सायबर सेल के कांस्टेबल मनोज कुमार व संजय कुमार की मदद से लड़की के महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में होने का पता चला। इसके बाद नाहरगढ़ थाने के हेडकांस्टेबल रामचंद्र व कांस्टेबल ओमप्रकाश को महाराष्ट्र भेजा गया। जहां पुलिस ने लड़की से संपर्क किया और उसे यहां जयपुर ले आ गए।