स्कूली शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा है कि  शिक्षा समाज के सर्वांगीण विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। शिक्षा के बिना समाज की उन्नति की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। उन्होंने इस आशय के विचार आज जगदलपुर शहर के माँ दन्तेश्वरी कन्या महाविद्यालय में 100 सीटर कन्या छात्रावास और कृषि महाविद्यालय कुम्हरावण्ड मे 100 सीटर पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास के लोकार्पण समारोह में व्यक्त किए। डॉ. टेकाम ने कृषि महाविद्यालय परिसर कुम्हरावण्ड में आयोजित समारोह में नानगुर में ंनवनिर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास और आडावाल मंे नवनिर्मित 50 सीटर बालक छात्रावास का लोकार्पण भी किया।
स्कूल शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा की छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में शिक्षा के संवर्धन एवं विकास के प्रति कृतसंकल्पित है। राज्य में विद्यार्थियों को सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, विद्यार्थियों के लिए किसी भी स्थिति मंे संसाधनों की कमी नहीं होने दी जाएगी। डॉ. टेकाम ने कहा की आज जगदलपुर शहर मे नवनिर्मित छात्रावासों का लोकार्पण जिले और अंचल के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा की राज्य सरकार बस्तर के चहुंमुखी विकास के लिए प्रतिबध्द है। आने वाले समय मे बस्तर में विकास के और भी अनेक कार्य किए जाएंगे। उन्होंने विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत कर अपने माता-पिता, परिवार, राष्ट्र व समाज का नाम रोशन करने को कहा।
इस अवसर पर सांसद श्री दीपक बैज, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल, विद्यायक जगदलपुर श्री रेखचंद जैन, विधायक चित्रकोट श्री राजमन बेंजाम, विधायक नारायणपुर श्री चंदन कश्यप, महापौर श्रीमती सफीरा साहू सहित जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में  छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।
    उल्लेखनीय है कि माँ दन्तेश्वरी महिला महाविद्यालय मे नवनिर्मित 100 सीटर कन्या छात्रावास की कुल लागत 181.69 लाख रूपये, कृषि महाविद्यालय कुम्हरावण्ड में निर्मित 100 सीटर पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास की कुल लागत 288.59 लाख रूपये है। इसी तरह नानगुर में निर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास की लागत 84.82 लाख रूपये और आडावाल में निर्मित 50 सीटर प्री मैट्रिक बालक छात्रावास की लागत 152.97 लाख रूपये है।