मुंबई। मुंबई में लगातार कोरोना अपनी बढ़त बनाये हुए है. तमाम उपाय योजना के बावजूद कोरोना के रफ़्तार पर ब्रेक नहीं लग पाने से इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि अब कोरोना को रोकने के लिए लॉक डाउन ही एक मात्र विकल्प बच गया है. मुंबई महानगरपालिका द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मुंबई में इस साल मार्च महीने में कोरोना संक्रमण के 88 हजार 710 मामले सामने आए हैं, जो कि फरवरी में सामने आए कुल मामलों से 475 फीसदी ज्यादा है. यह जानकारी इस साल मुंबई में फरवरी के महीने में 18 हजार 359 मामले सामने आए थे, वहीं जनवरी में यह आंकड़ा 16 हजार 328 था. इसका मतलब हुआ कि मार्च में मुंबई में पिछले महीने की तुलना में 70 हजार 351 ज्यादा मामले सामने आए. वहीं, जनवरी की तुलना में 72 हजार 382 ज्यादा मामले सामने आए. आंकड़ों के अनुसार, मार्च में संक्रमण की वजह से यहां 216 लोगों की मौत हुई जबकि फरवरी में 119 लोगों की मौत हुई थी. फरवरी की तुलना में मार्च का आंकड़ा 181 फीसदी ज्यादा है. वहीं जनवरी में संक्रमण से 237 लोगों की मौत हुई थी. मुंबई शहर में 31 मार्च तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,14,714 हो गई थी जबकि मृतकों की संख्या 11,686 तक पहुंच गई थी. मनपा के आंकड़ों के अनुसार, 31 मार्च को यहां 51,411 मरीजों का उपचार चल रहा था जबकि फरवरी के अंत में सिर्फ 9,715 मरीजों का उपचार हो रहा था.