लखनऊ। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्‍लू ने कहा कि प्रदेश में पार्टी बिना मुख्‍यमंत्री के चेहरे के प्रियंका गांधी वाद्रा की देख-रेख में विधानसभा चुनाव लड़ेगी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने यह अनुमान लगाने से इनकार किया कि पार्टी ने कितनी सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा है, लेकिन उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सत्ता में आएगी और मुख्यमंत्री कौन होगा यह पार्टी नेतृत्व तय करेगा। विधानसभा चुनाव 2017 में कांग्रेस को सिर्फ सात सीटें मिली थीं।
  भाजपा द्वारा प्रियंका को राजनीतिक पर्यटक बताये जाने पर पलटवार करते हुए लल्लू ने कहा कि सरकार दमन का रास्‍ता अपना रही है और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पिछले तीन महीने में लाठियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रियंका द्वारा उठाए गये मुद्दों से कांग्रेस में नई ऊर्जा पैदा हुई है, इसीलिए सरकार दमनकारी रास्‍ता अपना रही है। लल्लू ने कहा कि सपा जो अपने घर से बाहर नहीं निकलती है, दुष्प्रचार में लगी हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘सपा ने जनता का विश्वास खो दिया है। सपा में चाहे जितने नेता शामिल हो जाए, वह (चुनाव) परिदृश्य में नहीं रहने वाली और कांग्रेस सरकार बनाएगी।’’ लल्‍लू ने दावा किया, ‘‘वह केवल कांग्रेस है, जो भाजपा को टक्कर दे सकती है, क्योंकि यह एक विचारधारा है, संघर्ष का पर्याय है और लोगों का विश्वास है। सपा भाजपा के खिलाफ लड़ाई नहीं कर सकती, क्योंकि राज्य की जनता ने सपा सरकार और उसकी हरकतों को देखा है। लल्लू ने कहा, ‘‘सपा और बसपा चुनाव लड़ने आते हैं, जबकि कांग्रेस जनहित के मुद्दों को उठाती है और संविधान, किसानों, युवाओं, गांवों, गरीबों और कानून-व्यवस्था के मुद्दों के लिएसंघर्ष करती है।’’ प्रियंका सहित कांग्रेस नेताओं के मंदिरों में जाने को भाजपा द्वारा अपनी वैचारिक जीत बताने के संबंध में लल्लू ने कहा, हम सभी धर्मों में विश्वास करते हैं, रखते हैं।